pink saree

आजकल एक शब्द बहुत ट्रेंड में है वो है ऑर्गेनिक।खाने से लेकर पहने तक में इस शब्द की चर्चा है।जैसे जो लोग हेल्थ को लेकर सतर्क है वो ऑर्गेनिक फूड खाना पसंद कर रहे हैं।वैसे ही भीड़ से अगर अलग दिखना चाहते हैं तो स्कीन को लेकर सतर्क है तो ऑर्गेनिक फैब्रीक फैशन में है।आजकल लड़कियों से लेकर महिलाओं तक में ऑर्गेनिक साड़ी का क्रेज है।अब आप सोच रहे होंगे की ये ऑर्गेनिक फैब्रीक क्या है तो ।आपको बता दे कि इसे खास तरह के कपास से बनाया जाता है जिसकी खेती में किसी भी तरह के केमिकल फर्टीलाइजर का प्रयोग नहीं किया जाता है।ये पूरी तरह से नेचुरल होता है।जब कपास या कॉटन को ऑर्गेनिक तरीके से उगाया जाता है तो उससे बनने वाले कपड़े भी ऑर्गेनिक ही होंगे।खास बात ये है कि इनको डाई करते वक्त केमिकल फ्री वेजीटेबल और नेचुरल कलर का इस्तेमाल किया जाता




ये कलर फूल पत्तियों और डालियों से तैयार किए जाते हैं।इसीलिए इससे किसी भी तरह के स्कीन एलर्जी होने का चांस नहीं रहता है।ऑर्गेनिक साड़ियों की खास बात ये है इनका टैक्सचर सिफॉन या जॉर्जेट की तरह होने के कारण स्टार्च डालने की समस्या नहीं होती है। दूसरे की रंग पक्का होने के कारण मेंटेन करना आसान होता है।सामान्य तौर पर सकी कीमत 4000 से लेकर 40000 तक के बीच में होती है।बड़े शहरों में इसका डिमांड ज्यादा है।सबसे अलग दिखने की चाह और बॉडी को लेकर अवेयरनेस के कारण बड़े शहरो में अब ये फैशन ट्रेंड में अपनी जगह बनाने लगा है।इन साड़ियों का रंग वजन और फ्लो इनका डिमांड ज्यादा बढ़ा रहा है।

सिर्फ ऑर्गेनिक साड़ी ही नहीं आप इसका इस्तेमाल कुर्ती स्टॉल किसी भी तरह से कर सकती हैं।क्योंकि ससे पसीना कर स्कीन का लाल होना या चकत्ते होना या फिर किसी र तरह की स्कीन लर्जी नहीं होती है।दूसरे की इसको इस्तेमाल में लाकर हम वैसे कारिगरों और बुनकरों की मदद करते हैं जो इसको बनाते हैं।