Gurmeet-and-honey

विवादो से घीरा गुरुमीत राम रहीम और तथाकथित उसकी बेटी हनीप्रीत इंसा के रिश्तों का सश्पेंस भी विवादों से ही भरा हुआ है।हर समय गुरुमीत राम रहीम के साथ रहने वाली ये लड़की कौन है।हरमीत इंसा के सोशल मीडिया के अकाउंट को खंगालने पर ये पता चलाता है कि हरमीत हर जगह खुद को पापा की एंजल यानि की परी बताती है।उसने स्टेटस भी यही डाल रखा है।लेकिन इन सभी बातों के पीछे का सच जानकर आप भी कुछ देर के लिए सोच में पड़ जाओगे की खुद को धर्म गुरु बताने वाला इंसान अपने आसपास इतना अजीब सा रिश्तों का मकड़जाल बुन सकता है क्या।दरसअल हनीप्रीत इंसा का असली नाम प्रियंका तनेजा है।ये हरियाणा के फतेहाबाद की रहनेवाली है।प्रियंका के माता-पिता गुरुमीत राम रहीम के समर्थक थे।बाद में वो अपना घरबार बेचकर सीरसा आश्रम में रहने लगे।वहीं पर प्रियंका उर्फ हरमीत इंसा गुरुमीत राम रहीम के काफी करीब आ गई।दोनों के रिश्तों की बातें आश्रम में फैलने लगी।इसी बात को ध्यान में रखते हुए

Happy Doctors Day

A post shared by Honeypreet Insan (@honeypreet_insan) on


गुरुमीत राम रहीम ने हरमीत की शादी 1998 में अपने एक शिष्य विश्वास गुप्ता से करवा दी।विश्वास की माने तो उसने कहा कि गुरुमीत राम रहीम और अपनी पत्नी (हनीप्रीत) को उसने आपत्तिजनक हालत में देख लिया था।उन दोनों के रिश्ते की जानकारी होने के कारण ही उसका हनीप्रीत से 2007 में तलाक हो गया था।तलाक के बाद हनीप्रीत को गुरुमीत राम रहीम ने गोद ले लिया था।उसके बाद से ही हनीप्रीत इंसा गुरुमीत राम रहीम की परछाई बनकर हर पल उसके साथ रहती है।इसी साल 15 अगस्त को गुरुमीत राम रहीम ने अपना 50वां जन्मदिन मनाया था।सात दिन तक चलने वाले समारोह की कमान भी हरमीत इंसा ने ही संभाली थी। इसमे गुरुमीत राम रहीम ने 51किलो का केक काटा था।सोशल मीडिया पर हनीप्रीत ने इसका वीडियो भी डाला है। सोशल मीडिया में हनीप्रीत ने जो तस्वीरें और वीडियों डालीं है उससे ये लगता है कि वो लोगो को ये बताना चाह रही हैं कि वो गुरुमीत राम रहीम के कितने करीब हैं।

 


गुरुमीत राम रहीम के फिल्मों की हिरोइन भी हनीप्रीत ही होती है।गुरुमीत राम रहीम के विवादस्पद गुफा की देखभाल का कमान भी हनीप्रीत के पास ही था।साध्वी रेप केस में जब बाबा फैसला को सुनने के लिए निकले थे उस समय भी हनीप्रीत इंसा ही उनके साथ थी।फैसला आने के बाद भी हेलीकॉप्टर में वो साथ थी।यहां तक की गुरुमीत राम रहीम ने कोर्ट से ये मांग की थी की मेरी तबीयत ठीक नहीं रहती है हनीप्रीत को जेल में मेरे साथ रहने दिया जाए लेकिन कोर्ट ने उसकी मांग को ठुकरा दिया।कहते हैं कि डेरा सच्चा सौदा में गुरुमीत राम रहीम के बाद अगर किसी की चलती है तो वो है हनीप्रीत इंसा।माना जा रहा है कि गुरुमीत राम रहीम को रेप केस में 20 साल के सजा होने के बाद हनीप्रीत इंसा ही डेरा सच्चा सौदा की प्रमुख हो सकती है।