meena-kumari

22 अगस्त को 2017 भारत के इतिहास का एक यादगार दिन बन गया है।तीन तलाक पर फैसला देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने इसे असंवैधानिक करार दिया है और अगले 6 महिने तक के लिए इस पर रोक लगा दी है।पूरे देश में जश्न का माहौल है।खासकर के मुस्लिम महिलाओं में जिनको इस जिल्लत से गुजरना पड़ता था।बॉलीवुड में भी इस फैसले को लेकर जश्न का माहौल है।सभी ने तहे दिल से इसकी तारीफ की है।फैसले पर ट्वीट करते हुए शबाना आजमी ने कहा है कि मैं सर्वोच्च न्यायालय द्वारा तीन तलाक पर दिए गए फैसले स्वागत करती हूं,यह उन बहादुर मुस्लिम महिलाओं की जीत है जिन्होने कई सालों तक इसके खिलाफ लड़ा।

तीन तलाक के फैसले पर अनुपम खेर ने ट्वीट करते हुए कहा कि कुछ फैसले ना तो लिबटारडस के लिए होते है और ना पप्पुओं के लिए ना भक्तों के लिए।तीन तलाक फैसला महिला मानवधिकार की जीत है।

बॉलीवुड में मुस्लिम कुप्रथा तीन तलाक के खिलाफ पहले से ही फिल्मों के माध्यम से आवाज उठा रहा है।इसी कड़ी में निकाह और जुबैदा जैसी फिल्में आई थीं।आपको बता दें कि मशहूर बॉलीवुड अदाकारा मीना कुमारी को भी हलाला के द्रद से गुजरना पड़ा था।दरसअल 1952 में फिल्म पाकीजा की खूबसूरत अदाकार मीना कुमारी से फिल्म के डायरेक्टर कमाल अमरोही मुहब्बत कर बैठे और निकाह कर ली। लेकिन कुछ दिनों बाद ही दोनों के रिश्ते में खटास आने लगा और कमाल अमरोही ने एक दिन गुस्से में आकर मीना कुमारी को तीन बार तलाक….तलाक…तलाक… बोल दिया।इस घटना से मीना कुमारी बुरी तरह टूट गई।लेकिन बात 1952 की है जब ‘पाकीज़ा’ मीना कुमारी की ख़ूबसूरती से बेइंतहा प्यार कर बैठे फिल्मकार कमाल अमरोही ने उनसे निकाह कर लिया था। लेकिन कुछ समय के बाद दोनों के बीच मतभेद उभरे और एक दिन गुस्से में आ कर कमाल अमरोही ने मीना कुमारी को ‘तलाक…तलाक… तलाक ‘ कह दिया। मीना कुमारी इस घटना से बेहद टूट गई और उन्होंने कभी शादी नहीं करने की ठानी। बताते हैं कि कुछ समय बाद कमाल अमरोही को अपने किये पर पछतावा हुआ और उन्होंने फिर से मीना कुमारी से निकाह करने का प्रस्ताव रखा। उस दौरान मुस्लिम धर्म गुरुओं ने बताया कि अब दोबारा उसी औरत से निकाह तभी हो सकता है जब ‘हलाला’ हो और इसके लिए मीना कुमारी को पहले किसी दूसरे से निकाह करना होगा और फिर जब वो उसे तीन तलाक देगा, तब जा कर मीना कुमारी और कमाल अमरोही फिर से शादी कर सकते हैं। ठीक वैसा ही हुआ। मीना कुमारी का निकाह, जीनत अमान के पिता अमानुल्ला खान से हुआ और जब उन्होंने मीना को तलाक दिया, तब जा कर वो कमाल अमरोही से फिर से शादी कर सकीं।

लंबे समय से तीन तलाक को लेकर बहस छिड़ी हुई थी और सबका ध्यान आज के सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर था। अदालत ने छह महीने तक इस पर रोक लगाने के साथ सरकार से संसद में कानून बनाने को कहा है। बॉलीवुड इस फ़ैसले से बेहद ख़ुश है। फरहान अख़्तर ने कहा है – ” सही फैसला है। बहुत दिन से अटका था। हर किसी को हक़ है कि वो अपने तरीके से ज़िंदगी जिये। महिलाओं को उनका अधिकार मिलना ही चाहिए। अजय देवगन ने इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा है कि बड़ी अच्छी बात है कि ट्रीपल तलाक पर आख़िर जजमेंट आ ही गया। ये लंबे समय रुका हुआ था। मैं और बहुत सारे लोग इस फैसले से ख़ुश हैं। ऋषि कपूर और परेश रावल ने भी ट्रिपल तलाक की वैधानिकता को ख़त्म किये जाने का स्वागत किया है। अनुपम खेर ने ट्वीट कर कहा है कि ये महिलाओं के मानवाधिकार की जीत है।बॉलीवुड ने निकाह और जुबैदा जैसी फिल्मों के जरिये तीन तलाक का सच रखा है। और अमिताभ बच्चन की वो फिल्म तो आपको याद ही होगी , जो तलाक से जुडी थी। बच्चन ने फिल्म सौदागर में नूतन के साथ ऐसा किया था। बांग्ला कहानी ‘रस’ पर बनी इस फिल्म में मोती (अमिताभ), मेहजुबी (नूतन) से शादी कर लेता है ताकि वो सिर्फ उनके लिए अच्छे किस्म का गुड़ बनाये और उसे फूलबानो से शादी करने के लिए मेहर का अच्छा पैसा मिल जाये। पैसा मिलते ही वो मेहजुबी को तलाक दे देता है।