maxresdefault (1)

बॉलीवुड की एक ऐसी जोड़ी जिसके बारे में जानने सुनने की चाह आज भी हर दर्शक के मन में रहती है।इन दोनों की जिंदगी के कुछ ऐसे ही पहलू से आज आपको रुबरु कराते हैं।वैसे तो प्रेम अपने आप में खुद पूर्ण है लेकिन इन दोनों कलाकारों के लिए ये एक मृगतृष्णा से कम नहीं।जमाने की हजारों तरह की बंदिशो के आगे आप हर वो चीज नहीं पाते हैं जिसकी आप इच्छा रखते हैं।अस्सी के दशक की इस चर्चित प्रेम कहानी को कभी अपना मुकाम नही मिल सका लेकिन रेखा आज भी उन्ही यादों को अपना संबल बना जिए जा रही है।हैरान कर देने वाली बात ये है कि कभी क दूसरे के साथ काम करनेवाले और एक दूसरे के काफी करीब रहनेवाले आज जब किसी समारोह में मिलते हैं तो एक दूसरे से मिलने से कतराते हैं।

अस्सी के दशक की सबसे चर्चीत जोड़ी अमिताभ बच्चन और रेखा की पहली मुलाकात फिल्म ‘दो अंजाने’ की सेट पर हुई थी।ये वो दौर था जब अमिताभ का करियर इंडस्ट्री में पूरी तरह से सेट हो चुका था और वो जया बच्चन से शादी भी कर चुके थे लेकिन वहीं दूसरी तरफ रेखा अभी स्ट्रगल कर रही थीं।तब की रेखा और अभी की रेखा के लुक्स में भी बहुत अंतर था।रेखा इतनी सुंदर नहीं थीजितनी की बाद में दिखने लगी।दो अंजाने  फिल्म की शूटिंग के साथ ही इन दोनों की नजदिकिया भी बढ़ने लगी।फिल्म हीट साबीत हुई और जोड़ी भी। इसके बाद दोनों ने एक साथ मुकद्दर का सिंकदर, सुहाग,खून-पसीना और राम बलराम जैसी कई हीट फिल्में दी।

लेकिन न जाने क्यों दोनो अपने बारे में न कुछ कहते हैं न किसी भी समरोह में एक दूसरे का सामना करते हैं।खबरों की माने तो रेखा अमिताभ के ब्लॉग तो पढ़ती हैं लेकिन अपनी प्रतिक्रिया नहीं देती हैं।अमिताभ की फिल्में तो देखती हैं लेकिन ये कहकर की वो एक अच्छे कलाकार हैं।दोस्तों इश्क ऐसा मर्ज है अगर किसी को लग गया तो न तो दवा काम करती है और ना दुआ।इश्क कामयाब रहा तो ठीक वरना मौके-बेमौके एक हूक सी उठती रहती है। वैसे तो बॉलीवुड में ऐसी कई अधूरी प्रेम कहानियां हैं जिनको मुकाम नहीं मिला लेकिन अमिताभ और रेखा की प्रेम कहानी में कुछ ऐसी कशिश है जो आज भी हर किसी को अपनी ओर आकर्षित करती है। कहते हैं कि दोनों छुप-छुप करके अपने एक कॉमन दोस्त के घर मिलते थे।दुनिया को इनके प्यार के बारे में तब पता लगा जब फिल्म गंगा की सौगंध के सेट पर एक को-एक्टर ने रेखा के साथ बदतमीजी कर दी और अमिताभ अपना आपा खो बैठे।हाल ही में आई एक किताब ‘रेखा द अनटोल्ड स्टोरी’ में एक ऐसे वाक्या का जिक्र किया गया है जिसके बाद माना जाता है कि दोनों ने अपने रास्ता बदल लिया।‘रेखा द अनटोल्ड स्टोरी’ के लेखक हैं यासिर उस्मान।किताब के मुताबिक रेखा ने बताया कि जया के कारण ही अमिताभ उनके साथ काम नही करने का फैसला लिए थे।

आगे रेखा ने बताया किहुआ यूं था कि एकबार फिल्म ‘मुकद्दर का सिंकदर’ के ट्रायल के समय मैं प्रोजेक्शन रुम में बैठी थी जहां से पूरे बच्चन परिवार को मैं आसानी से देख पा रही थी।जया सामने के सीट पर बैठी थी और अमिताभ बच्चन के माता-पिता पिछे के सीट पर।मैने फिल्म में अपने और अमिताभ के बीच लव सीन के दौरान जया की आंखों में आंसू देखे थे।इसके कुछ दिनों बाद ही मुझे पता चला की अमिताभ ने इंडस्ट्री में अपने हर प्रोड्यूसर से कह दिया है कि वो अब रेखा के साथ काम नहीं करेगा। लेकिन ये आज भी उतना ही सच है जितना की तब था ये दोनो अगर एक साथ काम करने के लिए हां कर दें तो उनके पास डायरेक्टरों की लाइन लग जाएगी। दोनों की एकसाथ आखिरी फिल्म थी सिलसिला ।फिल्म में जया बच्चन भी थी।कहते के फिल्म रियल स्टोरी पर बेस्ड थी।फिल्म में लव ट्रॉएंगल को दिखाया गया था।फिल्म तो सुपर-डुपर हीट रही लेकिन दोनों के रिश्ते का सस्पेंश आज भी बरकरार है।