images

नवरात्री के नौ दिन मां दुर्गा की विधि-विधान से की गई पूजा व्यक्ति को हर कष्ट से मुक्ति दिलाती है।लेकिन यदि अष्टमी और नवमी की मध्य रात आप पूरी आस्था के साथ खास उपाय को करते हैं तो किसी भी तरह की नजर बाधा दूर हो जाएगी और सौभाग्य में बढ़ोत्तरी होगी।उपाय में साफ शुद्ध वस्त्र पहनकर अष्टमी और नवमी के मध्य रात 12 बजे के बाद घर के मुख्य द्वार पर दीपक जलाएं।दीपक शुद्ध घी का होना चाहिए और बत्ती लाल रंग के मौली की होनी चाहिए।मां दुर्गा का ध्यान करके दीपक को मुख्य दरवाजे पर रखें।प्रार्थना करें कि मां आपके जीवन को खुशियों से भर दें।नवमी की सुबह दुर्गासप्तशती का पाठ करें।9 साल से छोटी उम्र की 9 कन्याओं को भोजन कराएं।भोजन में खीर को अवश्य शामील करें।मां दुर्गा को सुहाग की सामग्री भेट करें।किसी भी माता के मंदिर में फल का दान करें।आपको या आपके परिवार में किसी को भी अगर नजर बाधा है वो दूर हो जाएगी।काम बनते –बनते रुक जा रहा है वो पूरा होगा।