49007_a9562a5b_14702130377_500_500

पूरे विश्व में भारत एक ऐसा देश है जहां अभी भी किन्नरो की परंपरा जिंदा है।फिल्मों में हमेशा नेगेटिव किरदार निभाने वाले एक्टर शक्ति कपूर अपनी आने वाली फिल्म ‘रक्तधारा’ में एक किन्नर की भूमिका में दिखेंगे।इस फिल्म के माध्यम से शक्ति कपूर ट्रांसजेंडर समुदाय को समाज में उनका हक दिलाने की पैरवी करते दिखेंगे।उनका मानना है कि ऐसा करने से हो सकता है समाज में किन्नरों के प्रति लोगो की सोच में बदलाव आए।आपको बता दें कि इस फिल्म के माध्यम से पहली बार किन्नरो के मौत से जुड़े रहस्य को दिखाया जाएगा।किन्नरों की मौत को लेकर समाज में तरह-तरह की बातें की जाती हैं कि आखिरकार मौत के बाद उनकी लाश को क्या किया जाता है।फिल्म रक्तधारा में शक्ति कपूर पॉजीटिव रोल में हैं।फिल्म में उनके एक किन्नर मित्र की मौत को दिखाया गया है जिसको बलात्कार कर मौत के मुंह में छोड़कर अपराधी भाग जाते हैं और अधिकारी भी किन्नरों के साथ दोहरा मापदंड अपनाते हैं, दुर्व्यवहार करते हैं। इस फिल्म के जरिए डायरेक्टर का प्रयास है कि ट्रांसजेंडर समुदाय के प्रति लोगो के नजरिए में बदलाव लाया जाए।उनको समाज में उचित मान-सम्मान मिले।वैसे तो रक्तधार एक छोटे बजट की फिल्म है लेकिन पहली बार किन्नर की भूमिका निभा रहे शक्ति कपूर को उम्मीद है कि उनकी मुहिम रंग लाएगी और यह फिल्म अपने उद्देश्य को पूरा करने में कामयाब होगी।